सुरक्षित

यह सफलतापूर्वक हजारों लोगों की मदद करनेवाला, विश्व प्रसिद्ध सुरक्षित उपचार कार्यक्रम में से एक है.

प्राकृतिक

प्राकृतिक उपचार और चिकित्सा स्वास्थ्य, खुशी के लिए जीने का विज्ञान है, जो तनाव मुक्त जीवन और पवित्रता देता हे.

दर्दरहित

हमारे पास कई दर्दरहित तरीके और थेरापी हे जो दर्दरहित अनुभव प्रदान करती हे.

हमारे बारे में

मीशन चेतनता की शरुआत एक्युपंक्चर एक्सपर्ट डो. चेतन दासवानी ने प्राचीन उपचार तरीको में लोक-जाग्रुती लाने को की थी. ये मीशन के माध्यम से भिन्न-भिन्न शहेरो में बार-बार मुफ़्त शिबिर क आयोजन किया गया और ये शिबिर द्वारा बहुत सारे लोगो को बेना दवाई लीये रोग क उप्चार कराने के लीये प्रोत्साहीत कीया गया हे.

बहुत सारे युवको को एक्यु-पंक्चर मार्गदर्शन साहित्य और साधनो दे कर रोज़गारी दि गयी हे.

बहुत सारे शहरो मे मुफ़्त एक्युपंक्चर सामग्री दे गयी हे और चेतनता मीशन के अंतर्गत मरीजो को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक कीया गया हे.

आज्, बहोत सारे शहरो में लोग कुदरती उपचार पद्धती द्वार उपचार पाने के लीये मीशन के साथ जुडे हे.

  • सिर्फ़ १ मुलाकात

    पुरे चेक​-अप और सारवार के लीये सिर्फ़ १ मुलाकात बहुत हे, ज्यादा की जरुरत नही.

  • तेज राहत

    तेज राहत और रोज दवाइ लेने से मुक्ति.

  • दवाई बिना

    हमारा ध्येय बिना दवाई के उपचार करना हे.

  • आधुनिक तकनीक क उपयोग

    ये निदान आधुनीक तकनीकी साधनो और सोफ़्टवेर आधारीत हे.

डो. चेतन दासवानि

(R.M.P(A.M.), M.D. ACU)

उपलब्धियां

  • बी.पी.टी.
  • डी.ए.ए.सी. (एरीक्युलर में डीप्लोमा, लंडन​)
  • ब्रिटेन सरकार से लेजर सीखने पुरस्कार
  • 14 साल से एक्यूपंक्चर चिकित्सक
  • मधुमेह विशेषज्ञ
  • 15 शहरों में मधुमेह कैम्प (एम्.पी. और महाराष्ट्र)
  • SuJok स्वर्ण पदक विजेता
  • अंतरराष्ट्रीय SuJok अकादमी के व्याख्याता
  • Auricular में मास्टर (कान एक्यूपंक्चर)
  • D.Ac. (एक्यूपंक्चर में डिप्लोमा)
  • M.D.Acu (एक्यूप्रेशर में मास्टर डिप्लोमा)
  • SuJok चिकित्सा में मास्टर
  • Auricular एक्यूपंक्चर के ब्रिटिश कॉलेज “से auricular (कान) एक्यूपंक्चर में डिप्लोमा, लंदन)
  • आरएमपी (रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर)
  • चेतनता मिशन के संस्थापक

खुश रोगियों की कुंजी

  • हर एक रोगी के लिए व्यक्तिगत देखभाल.
  • सबसे अच्छा उपचार दृष्टिकोण के लिए विस्तृत निदान.
  • नियुक्ति के लिए उपचार और अनुस्मारक पर नियमित रूप से प्रतिक्रिया.
  • पूरा रिकार्ड प्रगति और प्रक्रिया की रिपोर्ट के आधार पर उपचार में परिवर्तन देखना.
  • विभिन्न शहरों में नियमित शिविरों अधिकतम मरीजों तक पहुंचना.

न्युज​-लेटर​

साईन​-अप करे और पाईये चेतांत से न्युज​-लेटर​

खुश मरीज​

  • रुपा त्रिवेदीईंदोर​
  • भावन पुरोहित​रांचि
  • संजीव श्रीवास्तवरांचि
  • प्रकाश जादव​पटना
  • हरप्रीत सोढीजमशेद्पुर​
  • मुकेश वर्माईंदोर​
  • अमन साधुरांचि
  • शिव कुमार तिवारीइंदोर​
  • श्रिमती. धर्मशिलापिथमपुर
  • शंकर बुधरानिईंदोर​
  • प्रविण मोधईंदोर​
  • सुहासि नीरुपम​ईंदोर​
  • अमय बेंकर​ईंदोर​
  • मदन चावडाईंदोर​
  • विनोद शेंडगेपुणे
  • चन्द्रकान्त पाठक​पटना
  • विश्वास देश्मुख​पुणे
  • सपना भनुशालीईंदोर​
  • रुखसार जिन्नाह​ईंदोर​
  • प्रकाश यादव​उज्जेन​
  • गौरि शिंदेपुणे
  • एम​. एस​. गिन्नारेईंदोर​
  • फ़ेजु पटेल​ईंदोर​
  • आझाद पटेल​ईंदोर​
  • सिन्धु वर्माईंदोर​

हमारे बारे में मरीज ने कहा

आज़ाद पटेल

मैं आज़ाद पटेल, खजराना इन्दौर का निवासी हूँ और पिछले कई वर्षों से डायबिटीज़ से बुरी तरह पीड़ित था। डायबिटीज़ के कारण शरीर मे थकान, कमज़ोरी, कमर दर्द, आँखों में धुँधलापन भी महसूस करने लगा था। मैं डायबिटीज़ से पीछा छुड़ाने के लिए लगभग सारे उपाय कर चुका था लेकिन कोई फ़र्क़ नहीं पड़ा। एक दिन मैंने डॉ. चेतन दासवानी के बारे मे पेपर में पड़ा तो सोचा कि चलो ये भी करके देख लेते है। उनसे उपचार के कुछ ही दिनों मे मेरी तीनों गोलियाँ बंद हो गई व शरीर मे पहले जैसी फुर्ती महसूस करने लगा इसके साथ ही शारीरिक पीड़ा भी पूरी तरह जा चुकी है और अब मैं सामान्य रूप से मीठी चीज़ें भी खा सकता हूँ।

आज़ाद पटेलइंदोर
फैजु पटेल

मेरा नाम फैजु पटेल है मैं खजराना इन्दौर मे रहता हूँ। मैं रोज़ ५५ यूनिट इन्सुिलन लेता था और उसके बाद भी खाने-पीने मे परहेज़ करनी पड़ती थी। डायबिटीज़ के कारण मेरी आँखों में भी धुँधलापन व शरीर मे कमजोरी आने लगी थी। लेकिन डॉ. चेतन दासवानी से उपचार के बाद मेरी इन्सुिलन का डोज़ कम होने लगा व शुगर लेवल सामान्य हो गया। अब मीठाई व नॉनवेज खाने के बाद भी मेरी शुगर लेवल सामान्य रहती है।

फैजु पटेलइंदोर
एम.एस.गिन्नरे

मैं एम.एस.गिन्नरे, कनाडीया रोड इन्दौर में रहता हूँ। मुझे पिछले ७ वर्षों से डायबिटीज़ की समस्या है, जिसके कारण मुझे दोनों पैरों में जलन, पिंडलियों और जोड़ो मे दर्द, थकान, कमज़ोरी, बारबार पेशाब की तकलीफ़ के साथ वज़न मे कमी और आँखो मे भी कमज़ोरी आने लगी थी। दिन मे कई गोलियाँ लेने के बाद भी शुगर लेवल बढ़ा ही रहता था, लेकिन इस उपचार से न केवल मेरी शुगर सामान्य हुई बल्कि शारीरिक पीड़ा भी समाप्त हो चुकी है।

एम.एस.गिन्नरेइंदोर
श्रीमती सिन्धु महेश वर्मा

मैं श्रीमती सिन्धु महेश वर्मा, सुदामा नगर, इन्दौर मे रहती हूँ। मैं पिछले कई वर्षों से डायबिटीज़ से बुरी तरह पीड़ित थी। मुझे सब लोगों ने कहा कि ये कभी न ख़त्म होने वाली लाइलाज बीमारी है। लेकिन एक दिन मैंने पेपर मे डॉ. चेतन दासवानी के बारे मे पढा और इस पद्धति के कोई भी साइड इफ़ेक्ट न होने के कारण उपचार शुरू किया। अभी मेरा उपचार ख़त्म हुए ६ महीने हो चुके है। मेरी डायबिटीज़ की दवाइयाँ बंद हो चुकी है व सामान्य भोजन, मीठाई के बावजूद भी डायबिटीज़ पूरी तरह नॉर्मल हो चुका है।

श्रीमती सिन्धु महेश वर्माइंदोर

This post is also available in: English, Gujarati, Marathi